भटक कर बिजनौर पहुंचे कक्षा 5 के छात्र को रिक्शा चालक ने पहुंचाया परिजनों तक

मुरादनगर, शहर की सहबिस्वा कॉलोनी निवासी 14 वर्षीय कक्षा 5 का छात्र सोमवार को बस में नींद आ जाने के कारण रास्ता भटक गया और मोदीनगर स्थित दादा के गांव जाने की बजाय बिजनौर जा पहुंचा। देर रात बिजनौर में छात्र एक रिक्शा चालक को मिला। जिसने किसी तरह छात्र के परिजनों से बात कर उसे उनके सुपुर्द किया। छात्र के सकुशल मिल जाने के बाद परिजनों ने राहत की सांस ली है।
सहबिस्वा कॉलोनी में मौहम्मद खालिद अपने परिवार के साथ रहते हैं। वह मजदूरी करके अपने परिवार का पालन-पोषण करते हैं। खालिद ने बताया कि उनका 14 वर्षीय पुत्र मौहम्मद जैद कक्षा 5 में पढ़ता है। खालिद ने बताया कि सोमवार को जैद मोदीनगर के गांव त्यौडी-13 में रहने वाले अपने दादा के यहां जाने की बात कहकर घर से निकला था। लेकिन देर रात तक भी वह अपने दादा के घर नहीं पहुंचा। जिसके बाद परिजनों ने जैद की तलाश शुरू की तो उसका कुछ पता नहीं चल सका। इसके बाद छात्र के परिजन अगले दिन मंगलवार को गुमशुदगी दर्ज कराने मुरादनगर थाने भी पहुंचे और पुलिस को तहरीर दी। मिली जानकारी के अनुसार छात्र बुधवार दोपहर अपने परिजनों के पास लौट आया है। छात्र के पिता खालिद ने बताया कि दादा के गांव जाते समय मौहम्मद जैद को बस में नींद आ गई थी और वह भटक कर बिजनौर जा पहुंचा। जहां एक रिक्शा चालक की नजर जैद पर पड़ी। रिक्शा चालक ने जैद से उसके परिजनों का फोन नंबर पूछा और उनसे संपर्क किया। जिसके बाद बुधवार दोपहर रिक्शा चालक आरिफ की मदद से लापता छा़त्र मौहम्मद जैद अपने परिजनों के पास वापिस लौट पाया। छात्र के परिजनों ने रिक्शा चालक आरिफ का आभार प्रकट करते हुए खुशी जाहिर की है। वहीं दूसरी ओर छात्र के सकुशल मिल जाने की सूचना पर मुरादनगर पुलिस ने भी राहत की सांस ली है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *