जालसाजी कर बैंक से लोन लेने वाले 3 के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज
: एक संपत्ति पर एक से अधिक बैंक से लोन लेने का आरोप

गाजियाबाद, मुरादनगर थानाक्षेत्र स्थित भारतीय स्टेट बैंक के शाखा प्रबंधक ने तीन लोगों के खिलाफ जालसाजी करके लोन लेने का आरोप लगाते हुए थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई है। तीनों आरोपितों पर एक संपत्ति के दस्तावेज पर एक से अधिक बैंक से लोन लेने का आरोप है। पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।
मुरादनगर रेलवे रोड़ स्थित भारतीय स्टेट बैंक के शाखा प्रबंधक विनीत रांधी ने थाने में तहरीर देते हुए बताया कि फफराना बस्ती मोदीनगर निवासी तेजवीर, गांव दौसा बंजारपुर तहसील मोदीनगर निवासी ज्ञानेंदर व गांव भनेड़ा निवासी जयप्रकाश ने बैंक के साथ धोखाधड़ी करते हुए बैंक से ऋण ले लिया है। शाखा प्रबंधक ने बताया कि तीनों लोगों ने जिस संपत्ति के दस्तावेजों पर उनकी बैंक शाखा से ऋण लिया है, उन दस्तावेजों पर उन लोगों ने पहले से ही अन्य बैंक शाखा से लोन ले रखा है। जोकि गैरकानूनी है। शाखा प्रबंधक विनीत रांधी के अनुसार कि तेजवीर ने अपनी एक ही संपत्ति पर 2012 में भारतीय स्टेट बैंक से 176300 रूपये, 2014 में बैंक ऑफ महाराष्ट्र खुर्रमपुर मुरादनगर की शाखा से 208000 रूपये व 2019 में उसी संपत्ति के दस्तावेज पर केनरा बैंक से 138000 रूपये का ऋण लिया। उसी तरह गांव दौसा बंजारपुर निवासी ज्ञानेंदर ने 2014 मेें भारतीय स्टेट बैंक की शाखा से 257000 रूपये व 2015 में उसी संपत्ति के दस्तावेजों पर ओबीसी जोकि आज पंजाब नेशनल बैंक का हिस्सा है से 440000 रूपये ऋण लिया। वहीं तीसरे आरोपी गांव भनेड़ा निवासी जयप्रकाश ने सन 2011 में भारतीय स्टेट बैंक की शाखा से 244000 रूपये व उसी संपत्ति के दस्तावेजों पर धोखाधड़ी से सन 2014 में इलाहाबाद बैंक जोकि आज इंडियन बैंक मुरादनगर की शाखा है से 300000 रूपये का ऋण लिया है। भारतीय स्टेट बैंक के शाखा प्रबंधक विनीत रांधी ने बताया कि एक ही संपत्ति के दस्तावेज पर अलग-अलग बैंक शाखा से लोन लेना गैरकानूनी एवं दंडनीय अपराध है। पुलिस ने शाखा प्रबंधक की तहरीर पर रिपोर्ट दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *