परीक्षार्थियों ने लगाया पुलिस भर्ती परीक्षा से पूर्व ही परीक्षा पेपर लीक होने का आरोप

Ghaziabad News : उत्तर प्रदेश पुलिस सिपाही परीक्षा में शामिल होने आए परीक्षार्थियों ने परीक्षा से पूर्व ही परीक्षा पेपर सोशल मीडिया पर वायरल होने का आरोप लगाया है। परीक्षार्थियों ने क्षेत्रिय विधायक को मुख्यमंत्री के नाम एक ज्ञापन सौंपते हुए 17 व 18 फरवरी को आयोजित हुई पुलिस भर्ती परीक्षा को रद्द किए जाने की मांग की है।
बता दें कि उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा 17 व 18 फरवरी को सिपाही भर्ती परीक्षा आयोजित की थी। मुरादनगर विधानसभा क्षेत्र में भी परीक्षा सेंटरों पर अलग-अलग शहरों से परीक्षार्थी सिपाही भर्ती परीक्षा देने आए थे। मंगलवार को दर्जनों युवा क्षेत्रिय विधायक अजीतपाल त्यागी के कार्यालय पहुंचे। जहां पर उन्होंने कुछ अज्ञात असामाजिक तत्वों पर सिपाही भर्ती परीक्षा से पूर्व ही परीक्षा पेपर सोशल मीडिया के माध्यम से वायरल करने का आरोप लगाया है। युवाओं का कहना है कि 17 व 18 फरवरी को सिपाही भर्ती परीक्षा चार पालियों में आयोजित हुई की गई थी। जिसके लिए युवाओं ने रात-दिन एक करके मेहनत करते हुए अपनी तैयारी की थी, लेकिन कुछ लोगों ने टेलीग्राम, व्हाट्सअप व अन्य सोशल मीडिया के माध्यम से परीक्षा से पूर्व ही पेपर को वायरल कर दिया। परीक्षार्थी इसे अपने भविष्य के साथ खिलवाड़ बता रहे हैं। मंगलवार दर्जनों युवा एकत्रित होकर भाजपा विधायक अजीतपाल त्यागी के कार्यालय पहुंचे और प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नाम एक ज्ञापन सौंपते हुए 17 व 18 फरवरी को आयोजित हुई सिपाही भर्ती परीक्षा को रद्द किए जाने की मांग की है। क्षेत्रिय विधायक अजीतपाल त्यागी ने युवाओं को आश्वासन दिया है कि वह उनके द्वारा दिए गए ज्ञापन को प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ तक पहुंचाया जाएगा और उनकी मांगों से अवगत कराया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *